Best 78 Acharya Chanakya Quotes In Hindi – अनमोल विचार.
chankaya quotes in hindi

Best 78 Acharya Chanakya Quotes In Hindi – अनमोल विचार.

Advertisement

Chanakya Quotes In Hindi (Chanakya Thoughts In Hindi)


Chanakya niti for motivation

आपातकाल में स्नेह करने वाला ही मित्र होता है।

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi
आपातकाल में स्नेह करने वाला ही मित्र होता है।
Advertisement

तीनो लोको के स्वामी सर्वशक्तिमान भगवान विष्णु को नमन करते हुए मै एक राज्य के लिए नीति शास्त्र के सिद्धांतों को कहता हूँ. मै यह सूत्र अनेक शास्त्रों का आधार ले कर कह रहा हूँ।

– आचार्य चाणक्‍य

जो व्यक्ति कसी नाशवंत चीज के लिए कभी नाश नहीं होने वाली चीज को छोड़ देता है, तो उसके हाथ से अविनाशी वस्तु तो चली ही जाती है और इसमे कोई संदेह नहीं की नाशवान को भी वह खो देता है।

– आचार्य चाणक्‍य

इन ५ पर कभी विश्वास ना करें :
१. नदियां,
२. जिन व्यक्तियों के पास अश्त्र-शस्त्र हों,
३. नाख़ून और सींग वाले पशु,
४. औरतें (यहाँ संकेत भोली सूरत की तरफ है, बहने बुरा न माने )
५. राज घरानो के लोगो पर।

– आचार्य चाणक्‍य

एक बिगड़ैल गाय सौ कुत्तों से ज्यादा श्रेष्ठ है। अर्थात एक विपरीत स्वाभाव का परम हितैषी व्यक्ति, उन सौ लोगों से श्रेष्ठ है जो आपकी चापलूसी करते है।

– आचार्य चाणक्‍य

शत्रु की दुर्बलता जानने तक उसे अपना मित्र बनाए रखें।

– आचार्य चाणक्‍य

महिलाओं में पुरुषों कि अपेक्षा: भूख दो गुना, लज्जा चार गुना, साहस छः गुना, और काम आठ गुना होती है।

– आचार्य चाणक्‍य

अन्न के सिवाय कोई दूसरा धन नहीं है।

– आचार्य चाणक्‍य

तीनो लोको के स्वामी सर्वशक्तिमान भगवान विष्णु को नमन करते हुए मै एक राज्य के लिए नीति शास्त्र के सिद्धांतों को कहता हूँ. मै यह सूत्र अनेक शास्त्रों का आधार ले कर कह रहा हूँ।

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi
तीनो लोको के स्वामी सर्वशक्तिमान भगवान विष्णु को नमन करते हुए मै एक राज्य के लिए नीति शास्त्र के सिद्धांतों को कहता हूँ. मै यह सूत्र अनेक शास्त्रों का आधार ले कर कह रहा हूँ।

अच्छा मित्र वही है जो हमे निम्नलिखित परिस्थितियों में नहीं त्यागे: आवश्यकता पड़ने पर, किसी दुर्घटना पड़ने पर, जब अकाल पड़ा हो, जब युद्ध चल रहा हो, जब हमे राजा के दरबार मे जाना पड़े, और जब हमे समशान घाट जाना पड़े।

– आचार्य चाणक्‍य

कल के मोर से आज का कबूतर भला। अर्थात संतोष सब बड़ा धन है।

– आचार्य चाणक्‍य

आग सिर में स्थापित करने पर भी जलाती है। अर्थात दुष्ट व्यक्ति का कितना भी सम्मान कर लें, वह सदा दुःख ही देता है।

– आचार्य चाणक्‍य

ऋण, शत्रु और रोग को समाप्त कर देना चाहिए।

– आचार्य चाणक्‍य

यदि स्वयं के हाथ में विष फ़ैल रहा है तो उसे काट देना चाहिए।

– आचार्य चाणक्‍य

एक बुद्धिमान व्यक्ति को किसी इज्जतदार घर की अविवाहित कन्या से किस वयंग होने के बावजूद भी विवाह करना चाहिए। उसे किसी हीन घर की अत्यंत सुन्दर स्त्री से भी विवाह नहीं करनी चाहिए। शादी-विवाह हमेशा बराबरी के घरो मे ही उिचत होता है।

– आचार्य चाणक्‍य

जो व्यक्ति शास्त्रों के सूत्रों का अभ्यास करके ज्ञान ग्रहण करेगा उसे अत्यंत वैभवशाली कर्तव्य के सिद्धांत ज्ञात होगे। उसे इस बात का पता चलेगा कि किन बातों का अनुशरण करना चाहिए और किनका नहीं। उसे अच्छाई और बुराई का भी ज्ञात होगा और अंततः उसे सर्वोत्तम का भी ज्ञान होगा।

– आचार्य चाणक्‍य

भविष्य में आने वाली मुसीबतो के लिए धन एकत्रित करें। ऐसा ना सोचें की धनवान व्यक्ति को मुसीबत कैसी? जब धन साथ छोड़ता है तो संगठित धन भी तेजी से घटने लगता है।

– आचार्य चाणक्‍य

अपने स्थान पर बने रहने से ही मनुष्य पूजा जाता है।

– आचार्य चाणक्‍य

उस देश मे निवास न करें जहाँ आपकी कोई ईज्जत नहीं हो, जहा आप रोजगार नहीं कमा सकते, जहा आपका कोई मित्र नहीं और जहा आप कोई ज्ञान आर्जित नहीं कर सकते।

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi
उस देश मे निवास न करें जहाँ आपकी कोई ईज्जत नहीं हो, जहा आप रोजगार नहीं कमा सकते, जहा आपका कोई मित्र नहीं और जहा आप कोई ज्ञान आर्जित नहीं कर सकते।
Advertisement

यदि माता दुष्ट है तो उसे भी त्याग देना चाहिए।

– आचार्य चाणक्‍य

Here I am sharing some quotes on chanakya quotes on students hindi

Chanakya Quotes In Hindi For Students

विद्या ही निर्धन का धन है।

– आचार्य चाणक्‍य

ज्ञान अर्थात अपने अनुभव और अनुमान के द्वारा कार्य की परीक्षा करें।

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi For Students
ज्ञान अर्थात अपने अनुभव और अनुमान के द्वारा कार्य की परीक्षा करें।
Advertisement

किसी लक्ष्य की सिद्धि में कभी शत्रु का साथ न करें।

– आचार्य चाणक्‍य

अज्ञानी व्यक्ति के कार्य को बहुत अधिक महत्तव नहीं देना चाहिए।

– आचार्य चाणक्‍य

मुर्ख लोग कार्यों के मध्य कठिनाई उत्पन्न होने पर दोष ही निकाला करते है।

– आचार्य चाणक्‍य

विद्या को चोर भी नहीं चुरा सकता।

– आचार्य चाणक्‍य

लापरवाही अथवा आलस्य से भेद खुल जाता है।

– आचार्य चाणक्‍य

शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है. एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है. शिक्षा सौंदर्य और यौवन को परास्त कर देती है.

– आचार्य चाणक्‍य

शक्तिशाली शत्रु को कमजोर समझकर ही उस पर आक्रमण करे।

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi For Students
शक्तिशाली शत्रु को कमजोर समझकर ही उस पर आक्रमण करे।
Advertisement

समय का ध्यान नहीं रखने वाला व्यक्ति अपने जीवन में निर्विघ्न नहीं रहता।

– आचार्य चाणक्‍य

आलसी का न वर्तमान होता है, न भविष्य

– आचार्य चाणक्‍य

एक विद्यार्थी पूर्ण रूप से निम्न लिखित बातो का त्याग करे.
१. काम २. क्रोध ३. लोभ ४. स्वादिष्ट भोजन की अपेक्षा. ५. शरीर का शृंगार ६. अत्याधिक जिज्ञासा ७. अधिक निद्रा ८. शरीर निर्वाह के लिए अत्याधिक प्रयास.- आचार्य चाणक्य

– आचार्य चाणक्‍य

here i am sharing some quotes on chanakya quotes on success hindi , chanakya quotes in hindi for students , chanakya quotes in hindi

Chanakya Quotes In Hindi For Success

जो अपने कर्म को नहीं पहचानता, वह अँधा है।

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi For Success
जो अपने कर्म को नहीं पहचानता, वह अँधा है।
Advertisement

कोई काम शुरू करने से पहले, स्वयं से तीन प्रश्न कीजिये – मैं ये क्यों कर रहा हूँ, इसके परिणाम क्या हो सकते हैं और क्या मैं सफल होऊंगा. और जब गहराई से सोचने पर इन प्रश्नों के संतोषजनक उत्तर मिल जायें, तभी आगे बढिए.

– आचार्य चाणक्‍य

विचार न करके कार्ये करने वाले व्यक्ति को लक्ष्मी त्याग देती है।

– आचार्य चाणक्‍य

कोई व्यक्ति अपने कार्यों से महान होता है, अपने जन्म से नहीं.

– आचार्य चाणक्‍य

जब आप किसी काम की शुरुआत करें, तो असफलता से मत डरें और उस काम को ना छोड़ें. जो लोग ईमानदारी से काम करते हैं वो सबसे प्रसन्न होते हैं.

– आचार्य चाणक्‍य

कायर व्यक्ति को कार्य की चिंता नहीं होती।

– आचार्य चाणक्‍य

अपनी शक्ति को जानकार ही कार्य करें।

– आचार्य चाणक्‍य

मुर्ख लोग कार्यों के मध्य कठिनाई उत्पन्न होने पर दोष ही निकाला करते है।

– आचार्य चाणक्‍य

प्रयत्न न करने से कार्य में विघ्न पड़ता है

– आचार्य चाणक्‍य

इस बात को व्यक्त मत होने दीजिये कि आपने क्या करने के लिए सोचा है, बुद्धिमानी से इसे रहस्य बनाये रखिये और इस काम को करने के लिए दृढ रहिये.

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi For Success
इस बात को व्यक्त मत होने दीजिये कि आपने क्या करने के लिए सोचा है, बुद्धिमानी से इसे रहस्य बनाये रखिये और इस काम को करने के लिए दृढ रहिये.
Advertisement

here i am sharing some quotes on chanakya quotes on love hindi, chanakya niti about love
chanakya quotes on love in hindi , chanakya quotes in hindi

Chanakya Quotes In Hindi For Love

वही पत्नी है, जो पवित्र और कुशल हो । वही पत्नी है, जो पतिव्रता हो । वही पत्नी है, जिसे पति से प्रीति हो । वही पत्नी है, जो पति से सत्य बोले ।

– आचार्य चाणक्‍य

जिस से प्रेम होता है उसी से भय भी होता है । प्रेम ही सारे दुःखो का मूल है, अतः प्रेम – बन्धनों को तोड़कर सुखपूर्वक रहना चाहिए ।

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi For Love
जिस से प्रेम होता है उसी से भय भी होता है । प्रेम ही सारे दुःखो का मूल है, अतः प्रेम – बन्धनों को तोड़कर सुखपूर्वक रहना चाहिए ।
Advertisement

किसी सभा में कब क्या बोलना चाहिए, किससे प्रेम करना चाहिए तथा कहां पर कितना क्रोध करना चाहिए जो इन सब बातों को जानता है, उसे पण्डित अर्थात ज्ञानी व्यक्ति कहा जाता है ।

– आचार्य चाणक्‍य

प्यार बुरा नहीं है , प्यार करने वाला बुरा है ।

– आचार्य चाणक्‍य

वही पत्नी अच्छी है जो पति को प्रसन्न करने वाली, शुचिपूर्ण, पारंगत, शुद्ध और सत्यवादी है।

– आचार्य चाणक्‍य

लड़की सुंदर संस्कारी ,और समाजदार होनी चाहिए ।लड़की सुंदर संस्कारी ,और समाजदार होनी चाहिए ।

– आचार्य चाणक्‍य

जिस से प्रेम होता है उसी से भय भी होता है । प्रेम ही सारे दुःखो का मूल है, अतः प्रेम – बन्धनों को तोड़कर सुखपूर्वक रहना चाहिए ।

– आचार्य चाणक्‍य

प्यार एक लिमिट में करो ।

– आचार्य चाणक्‍य

किसी को जानो फिर प्यार करो

– आचार्य चाणक्‍य

chanakya quotes in hindi fro friends , chanakya niti for motivation

Chanakya Quotes In Hindi For Friends

हर मित्रता के पीछे कोई न कोई स्वार्थ होता है ऐसी कोई भी मित्रता नही जिसके पीछे स्वार्थ न छिपा हो!! यह जीवन का एक कड़वा सच है

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi For Friends
हर मित्रता के पीछे कोई न कोई स्वार्थ होता है ऐसी कोई भी मित्रता नही जिसके पीछे स्वार्थ न छिपा हो!! यह जीवन का एक कड़वा सच है
Advertisement

कभी भी उनसे मित्रता मत कीजिये जो आपसे कम या ज्यादा प्रतिष्ठा के हों. ऐसी मित्रता कभी आपको ख़ुशी नहीं देगी.

– आचार्य चाणक्‍य

संसार में न कोई तुम्हारा मित्र है न शत्रु | तुम्हारा अपना विचार ही, इसके लिए उत्तरदायी है |

– आचार्य चाणक्‍य

शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है.एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पता है.

– आचार्य चाणक्‍य

पहले पाच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिये . अगले पांच साल उन्हें डांट-डपट के रखिये. जब वह सोलह साल का हो जाये तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यव्हार करिए.आपके व्यस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं.

– आचार्य चाणक्‍य

सेवक को तब परखें जब वह काम ना कर रहा हो, रिश्तेदार को किसी कठिनाई में , मित्र को संकट में , और पत्नी को घोर विपत्ति में.

– आचार्य चाणक्‍य

प्रेम और मित्रता बराबर वालों में अच्छी लगती है, राजा के यहाँ नौकरी करने वाले को ही सम्मान मिलता है, व्यवसायों में वाणिज्य सबसे अच्छा है, अवं उत्तम गुणों वाली स्त्री अपने घर में सुरक्षित रहती है।- आचार्य चाणक्य

– आचार्य चाणक्‍य

कभी भी उनसे मित्रता मत कीजिये जो आपसे कम या ज्यादा प्रतिष्ठा के हों. ऐसी मित्रता कभी आपको ख़ुशी नहीं देगी. कभी भी उनसे मित्रता मत कीजिये जो आपसे कम या ज्यादा प्रतिष्ठा के हों. ऐसी मित्रता कभी आपको ख़ुशी नहीं देगी.

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Quotes In Hindi For Friends
कभी भी उनसे मित्रता मत कीजिये जो आपसे कम या ज्यादा प्रतिष्ठा के हों. ऐसी मित्रता कभी आपको ख़ुशी नहीं देगी.
Advertisement

Chanakya Niti For Life

भय को नजदीक न आने दो अगर यह नजदीक आये तो इस पर हमाला कर दो यानी भय से भागो मत इसका सामना करों

– आचार्य चाणक्‍य

जब तक शरीर स्वस्थ और आपके नियंत्रण में है। उस समय आत्म साक्षात्कार के लिए उपाय अवश्य ही कर लेना चाहिए, क्योंकि मृत्यु के पश्चात कोई कुछ भी नहीं कर सकता।

– आचार्य चाणक्‍य

कामयाब होने के लिए अच्छे मित्रों की जरूरत होती है और ज्यादा कामयाब होने के लिए अच्छे शत्रुओं की आवश्यकता होती है!

– आचार्य चाणक्‍य

कोई भी काम शुरू करने पे पहले खुद से तीन सवाल जरूर पूछें। मैं ऐसा क्‍यों करने जा रहा हूँ ? इसका क्‍या परिणाम होगा ? क्‍या मैं सफल रहूंगा ?

– आचार्य चाणक्‍य

समझदार व्यक्ति को दूसरों के बल पर साहस नहीं करना चाहिए

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Niti For Life
समझदार व्यक्ति को दूसरों के बल पर साहस नहीं करना चाहिए
Advertisement

जिस व्यक्ति के पास दया और धर्म नहीं है उससे दूर रहो।

– आचार्य चाणक्‍य

प्रशंसा से बचो, यह आपके व्यक्तित्व की अच्छाइयों को घुन की तरह चाट जाती है!

– आचार्य चाणक्‍य

chanakya ke anmol vachan

Chanakya Suvichar ( 10 Important Quotes that will make you great person.)

जिन लोगों में लज्जा का गुण न हो, जो किसी भी गलत कार्य को करने में संकोच न करें और जो लज्जा हीन हो, उनसे मित्रता नहीं करनी चाहिए!

– आचार्य चाणक्‍य

यदि आप प्रयास करने के बाद भी असफल हो जाऐं तो भी उस व्यक्ति से हर हाल में बेहतर होंगे जिसको बिना किसी प्रयास के सफलता मिल गई हो

– आचार्य चाणक्‍य

दुष्टों और कांटों से बचने के केवल दो ही उपाय है जूतों से उन्हें कुचल डालना या उनसे दूर रहना

– आचार्य चाणक्‍य

जो तुम्हारी बात सुनते हुए… इधर-उधर देखे उस पर कभी विश्वास न करो

– आचार्य चाणक्‍य

जो लोगो पर कठोर से कठोर सजा को लागू करता है
वो लोगो की नजर में घिनौना बनता जाता है,
जबकि नरम सजा लागू करता है वह तुच्छ बनता है.
लेकिन जो योग्य सजा को लागू करता है वह सम्माननीय कहलाता है।

– आचार्य चाणक्‍य

जिस पत्नी के चेहरे पर हरदम घृणा है उसे दूर करो। जिन रिश्तेदारों के पास प्रेम नहीं उन्हें दूर करो।

– आचार्य चाणक्‍य

किसी मूर्ख व्यक्ति के लिए किताबें उतनी ही उपयोगी हैं जितना कि एक अंधे व्यक्ति के लिए आईना

– आचार्य चाणक्‍य

दूसरो की गलतियों से सीखो अपने ही ऊपर प्रयोग करके सीखने में तुम्हारी उम्र कम पड़ेगी!

– आचार्य चाणक्‍य
Chanakya Suvichar ( 10 Important Quotes that will make you great person.)
दूसरो की गलतियों से सीखो अपने ही ऊपर प्रयोग करके सीखने में तुम्हारी उम्र कम पड़ेगी!
Advertisement

वह जो हमारे चिंतन में रहता है वह करीब है,
भले ही वास्तविकता में वह बहुत दूर ही क्यों ना हो;
लेकिन जो हमारे ह्रदय में नहीं है वो करीब होते हुए भी बहुत दूर होता है।

– आचार्य चाणक्‍य

गुणों से मानवता की पहचान होती है! ऊँचे सिंहासन पर बैठने से नहीं… महल के उच्च शिखर पर बैठने के बावजूद कवा का गरुड़ होना असंभव है!

– आचार्य चाणक्‍य

विद्यार्जन करना एक कामधेनु के समान है, जो मनुष्य को हर मौसम में अमृत प्रदान करती है।

– आचार्य चाणक्‍य

जिस व्यक्ति के घर पुत्र नहीं है उसका घर उजाड़ है। जिसका कोई संबंधी नहीं, उसकी सभी दिशाएं उजाड़ है। मूर्ख व्यक्ति का ह्रदय उजाड़ है। निर्धन व्यक्ति का तो सब कुछ उजाड़ है।

– आचार्य चाणक्‍य


Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This Post Has 2 Comments